सार्क सम्मलेन के न्योते पर बोलीं सुषमा, बात और आतंक साथ-साथ नहीं चल सकते

भारत सरकार ने एकबार फिर साफ़ किया है कि ने पाकिस्तान के साथ आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकती है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पाकिस्तान द्वारा सार्क सम्मेलन में भारत को न्योता देने वाली खबरों पर प्रतिक्रिया दे रही हैं, उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी सार्क सम्मेलन में हिस्सा लेने पाकिस्तान नहीं जाएंगे, पाकिस्तान के साथ आतंक रोकने तक बातचीत नहीं हो सकती है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को सार्क सम्मेलन के लिए भारत को न्योता देने के बारे में जानकारी दी थी। हालाँकि जब से पाकिस्तान के पास सार्क अध्यक्ष का पद गया है इस संगठन की कोई बैठक नहीं हो पाई है।

भोपाल में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में सुषमा स्वराज ने कहा कि ऐसे माहौल में पाकिस्तान से बातचीत कैसे हो सकती है। उन्होंने भारत के सार्क सम्मेलन में शामिल होने की संभावनाओं से साफ इनकार करते हुए कहा कि हमें पठानकोट और उड़ी हमले को भी देखना होगा, बात और आतंक साथ-साथ नहीं चल सकते हैं।

सुषमा स्वराज ने बताया कि सामान्य परंपरा यह है कि सार्क सम्मेलन के लिए सभी सदस्यों की सहमति के आधार पर तिथि तय की जाती है। जब तिथि तय हो जाती है उसके बाद ही सदस्य राष्ट्रों को औपचारिक निमंत्रण भेजा जाता है।

Leave a Reply

RSS
Facebook
Google+
http://jantanews.in/sushma-swaraj-says-that-talk-and-terror-can-not-go-together">
YOUTUBE
YOUTUBE