गुड़गांव में पकड़ा गया हैवानियत की हदें पार करने वाला, बलात्कार से पहले मासूमों की टाँगे तोड़ देता था

गुड़गांव में दरिंदगी की हदें पार करते हुए एक 3 साल की बच्ची से बल्तकार और उसके बाद हत्या के मामले में पकड़े गए युवक से पुलिस की पूछताछ में इंसानियत को शर्मसार करने वाले खुलासे हुए हैं।

11 नवंबर की दोपहर से गायब तीन साल की मासूम बच्ची का शव 12 नवंबर की सुबह सेक्टर-66 एरिया में सड़क किनारे मिला था। बच्ची के साथ बलात्कार के बाद बर्बरता से उसकी हत्या की गई थी। बच्ची के साथ वीभत्स रेप और मर्डर का मामला समाने आया था। हैवानियत की हदें पार करते आरोपी ने बच्ची के प्राइवेट पार्ट में 10 सेमी लंबा लकड़ी का एक टुकड़ा घुसा दिया। अपनी हवस का शिकार बनाने के बाद हैवान ने बच्ची की हत्या की और उसके शरीर पर ईंट रखकर उसका सिर प्लास्टिक बैग से ढंक दिया।

पुलिस की पूछताछ में पास की ही झुग्गी में रहने वाले युवक सुनील का नाम सामने आया था। जिसके बाद सुनील के मां, बहन और जीजा से पूछताछ की गई और इसके बाद शनिवार देर रात उसे झांसी के मगरपुर गांव से अरेस्ट किया गया।

आरोपी युवक कुबूलनामे के अनुसार उसने अब तक 9 मासूम बच्चियों से रेप और हत्या की है, इन बच्चियों की उम्र 3 से 8 साल के बीच थी। जिसमें 3 मामले गुड़गांव के, 1 ग्वालियर, 1 झांसी और 4 दिल्ली के हैं।

डीसीपी क्राइम सुमित कुमार ने बताया, “गुड़गांव में 3, दिल्ली में 4 और ग्वालियर व झांसी के 2 मामलों का खुलासा हुआ है। सभी में उसने रेप के बाद बच्चियों की हत्या कर दी। उससे पूछताछ कर सबूत जुटाए जा रहे हैं। सेक्टर-39 क्राइम ब्रांच की टीम को 2 लाख रुपये का इनाम व प्रशंसापत्र दिया जाएगा”। गुड़गांव पुलिस अब दिल्ली, ग्वालियर व झांसी पुलिस से संपर्क कर केस में अन्य जानकारियां जुटा रही है।

आरोपी ने जो भी बताया उसे सुनकर रोंगटे खड़े हो जाते हैं, 9 बच्चियों से रेप के बाद हत्या करने वाले दरिंदे सुनील का वारदात करने का तरीका दिल को दहलाने देने वाला है। वह कुरकुरे या चॉकलेट दिलाने के बहाने भंडारे जैसी जगहों से बच्चियों को साथ ले जाता था और सुनसान स्थान पर ले जाकर वह सबसे पहले बच्ची की टांग तोड़ देता था, ताकि वह भागने न पाए। इसके बाद दरिंदगी से रेप करता और फिर हैवानियत की हदें पार करते हुए सिर पर पत्थर मारकर बच्ची की हत्या कर देता। वारदात के बाद वह शव को कभी मौके पर तो कभी अगल बगल फेंक देता था और फिर शराब पीता था।

जांच में पुलिस को पता चला कि युवक सड़क किनारे कहीं भी सो जाता है। उसे भंडारे में खाना खाने का शौक है और इसीलिए वह अकसर ऐसा करता है। पुलिस ने उसे फंसाने के लिए मंगलवार को गुड़गांव के एक हनुमान मंदिर में, गुरुवार को सांई मंदिर में और शनिवार को शनि मंदिर में भंडारे का आयोजन किया। इस बीच 100 से अधिक पुलिसकर्मियों की टीम लगाईं गई जिन्होंने करीब 2 हजार लोगों को चेक किया, लेकिन पुलिस को कोई सुराग नहीं मिल सका।

पूछताछ में उसने बताया कि नवंबर 2016 और जनवरी 2017 में उसने गुड़गांव में ही दो बच्चियों से रेप कर उनकी हत्या कर दी थी। नवंबर 2016 में उसने सिविल लाइंस स्थित पीर बाबा मजार पर भंडारा खाने पहुंची बच्ची का अपहरण कर रेप किया और फिर मार डाला। जिसका शव कुछ दिन बाद राजीव चौक के पास सीवर लाइन से बरामद किया गया था।

इसके बाद उसने जनवरी 2017 में सोहना रोड शनि मंदिर पर आयोजित भंडारे से इसी तरह एक बच्ची को बहला फुसला कर अपने साथ ले गया और बलात्कार करने के बाद उसे भी बेदर्दी के साथ मार डाला। हत्या के बाद उसने बच्ची के शव को ओमेक्स मॉल के पीछे खाली जमीन में फेंक दिया था। इसके अलावा दिल्ली के 4, ग्वालियर व झांसी के 2 मामलों में भी उसने रेप के बाद बच्चियों की निर्मम हत्या कर दी थी।

Leave a Reply

RSS
Facebook
YOUTUBE
YOUTUBE