अजय माकन के अध्यक्ष पद के इस्तीफे से दिल्ली प्रदेश कांग्रेस को बड़ा झटका

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन के अचानक अपने पद से इस्तीफा देने के कारण पार्टी को दिल्ली में बड़ा झटका लगा है। उन्होंने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए अपना इस्तीफा राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को भेजा है, जिसे अभी मंजूर नहीं किया गया है। हालाँकि लोकसभा चुनाव से कुछ महीनों पहले अचानक हुए इस इस्तीफे से कांग्रेस पार्टी की लोकसभा तैयारियों को बड़ा झटका माना जा रहा है, जिसने राजधानी में इलेक्शन के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं।

हालाँकि राजनैतिक गलियारों में अजय माकन के इस इस्तीफे को आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन की चर्चा से भी जोड़कर देखा जा रहा है। परन्तु कई चुनावी विश्लेषकों को इसमें संदेह भी है, उनका तर्क है कि जिस तरह अरविन्द केजरीवाल ने पिछले दिनों लगातार कांग्रेस और राहुल गाँधी पर हमले किये हैं, उससे यह नहीं लगता कि आम आदमी पार्टी इस तरफ सोच रही है, पर यह संभव है कि राष्ट्रिय परिप्रेक्ष में कांग्रेस गठबंधन के पक्ष में हो और इस कारण माकन खुद को अलग-थलग महसूस करने लगे हों।

यहाँ आपको यह भी बताते चलें कि अजय माकन ने 13 सितंबर को दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको से उन्हें जल्द प्रभावमुक्त करने की गुजारिश की थी और फिर उसके बाद 14 सितंबर को इस्तीफा सीधे राहुल गाँधी को भेज दिया। बताया जा रहा कि इस्तीफे के पीछे उन्होंने स्वास्थ्य कारणों का हवाला दिया और उस के बाद इलाज के लिए विदेश रवाना हो गए। माकन के 21 सितंबर तक वापस दिल्ली लौटने की संभावना है।

माकन के इस्तीफे के बाद दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर संशय बना हुआ है। गौरतलब है कि शीला दीक्षित पहले से ही बीमार चल रही हैं। ऐसे में लोकसभा चुनाव से ठीक पहले शीला और माकन का बीमार होना दिल्ली में कांग्रेस के लिए बड़ा नुक्सान माना जा रहा है।

सूत्रों के अनुसार इस्तीफे में माकन ने अपने खराब स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए कहा कि वह पार्टी में बने रहेंगे, पर अस्वस्थ नहीं होने के कारण उन्हें आराम की आवश्यकता है। उन्होंने इस्तीफे के कारणों को गिनाते हुए यह भी कहा कि वह अस्वस्थता के कारण दिल्ली में गरीबों की लड़ाई पूरी मुस्तैदी से नहीं लड़ पा रहा हैं, इसलिए उन्हें पदभार से मुक्त किया जाए।

ज्ञात रहे कि अजय माकन पिछले वर्ष हुए दिल्ली नगर निगम के चुनावों में कांग्रेस के तीसरे नंबर पर आने पर भी परेशान होकर दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश कर चुके हैं।

Leave a Reply

RSS
Facebook
YOUTUBE
YOUTUBE