पत्रकारिता या चाटुकारिता?

क्या आज पत्रकारिता चाटुकारिता बनी हुई है? मशहूर पत्रकार और स्वतंत्रता सेनानी गणेश शंकर चतुर्वेदी कहा करते थे कि पत्रकारों को हमेशा सरकार के प्रतिपक्ष में खड़ा होना चाहिए। इस विषय पर विमर्श कर रही है हमारी यह आज की पेशकश। अगर आपको हमारी यह कोशिश पसंद आई हो तो शेयर जरूर करें और हमारे चैनल ‘तीखी बात’ को ज़रूर सब्स्क्राइब करें।

Like, Share, Subscribe:
Youtube Subscribe: http://bit.ly/2EpbUxc
Web: http://www.tikhibat.com
Twitter: http://www.twitter.com/tikhi_bat
Facebook: http://www.facebook.com/tikhibat

Leave a Reply

RSS
Facebook
YOUTUBE
YOUTUBE