मोदी-शाह की जोड़ी देश के लिए ख़तरा हैं – अरविन्द केजरीवाल

लोकसभा चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी (AAP) के सीनियर लीडर्स हर लोकसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर के रणनीति पर चर्चा कर रही है। इसी कड़ी में सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के घर पर उत्तरी-पूर्वी दिल्ली लोकसभा की बैठक में कार्यकर्ताओं से सम्बोधन में अरविन्द केजरीवाल ने पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और अमित शाह (Amit Shah) को देश के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया हैं।

अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि अमित शाह ने एक सभा में बोलै था कि बीजेपी अगर 2019 का लोकसभा चुनाव जीत जाती है तो आनेवाले 50 सालों तक बीजेपी को कोई भी सत्ता से नहीं हटा पाएगा। इसका अर्थ यह है कि अगर बीजेपी फिर से सत्ता में आती है तो यह लोग संविधान भी बदल सकते हैं।

उन्होंने कहा कि ‘इससे पहले हिटलर ने भी ऐसा ही किया था, हिटलर ने चुनाव जीतने के बाद चुनावी प्रक्रिया को ही समाप्त कर दिया था। मुझे लगता है कि पीएम मोदी भी यही करना चाहते हैं। जिस तरह बीजेपी की सरकार हिटलर शाही से काम कर रही है उससे साफ़ लगता है कि अगर बीजेपी 2019 में जीतती है तो वह चुनावी प्रक्रिया को समाप्त करने के लिए संविधान को भी बदल सकते हैं।

केजरीवाल ने कहा कि आपको आम आदमी पार्टी या अरविन्द केजरीवाल को जिताने के लिए मेहनत नहीं करनी है, बल्कि देश को बचाने की मेहनत करनी है, क्योंकि पार्टी या व्यक्ति बड़ा नहीं है बल्कि देश सबसे बड़ा है। देश के नागरिक होने के नाते यह हम सबका फर्ज है कि हम इस देश के संविधान को बचाने के लिए तन, मन धन से सहयोग करें और अगले लोकसभा चुनाव तक जी-जान से जुट जाएं। अगर आप सभी आज यह प्रण कर लें तो दिल्ली में आप बीजेपी को आसानी से हरा सकते हैं। मोदी-शाह की हिटलरशाही का पतन होकर रहेगा।

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली में कांग्रेस का कोई अस्तित्व नहीं है। जैसे यूपी, बंगाल, बिहार जैसे कई प्रदेशों में कांग्रेस भाजपा को हराना में अक्षम है, वैसे ही दिल्ली में भी उसका कोई वजूद नहीं है, और इसीलिए कांग्रेस को जाने वाला हर वोट बीजेपी की ही मदद करेगा।

उन्होंने कार्यकर्ताओं से लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जी- जान से जुट जाने का आह्वान करते हुए कहा कि बीजेपी दिल्ली सरकार को दिल्ली की जनता के हर काम को रोकने की कोशिश करती है और उसमें दिल्ली को सातों संसद सहयोग करते हैं, अगर दिल्ली के सातों संसद आम आदमी पार्टी के होते तो दिल्ली आज सीलिंग की मार नहीं झेल रही होती।

गोपाल राय ने कहा कि जनता के मुद्दों को उठाने के लिए जनता के बीच में से लोगों को संसद में जाना पड़ेगा। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम अच्छे लोगों को चुनकर संसद में भेजें और आज हम सबके पास यह मौका है।

आम आदमी पार्टी दिल्ली के संयोजक गोपाल राय ने कहा कि बीजेपी अपनी हार को स्वीकार कर चुकी है इसीलिए साजिश करके अपनी हार को टालना चाहती है. और इसी साज़िश के तहत उसने दिल्ली में लगभग 30 लाख लोगों के नाम वोटर लिस्ट से कटवा दिए हैं। बैठक में मौजूद उत्तरी-पूर्वी लोकसभा प्रभारी दिलीप पांडे ने कहा कि दिल्ली में आप की सरकार ने जो काम किये हैं वैसे कामों के बारे में पूर्व की किसी सरकार ने कभी सोचा भी नहीं था। उन्होंने दावा किया कि आम आदमी पार्टी (AAP) दिल्ली में सभी सातों लोकसभा सीटों पर जीत हासिल करेगी।

Leave a Reply

RSS
Facebook
YOUTUBE
YOUTUBE