उपचुनाव में भाजपा साफ़, कांग्रेस-तृणमूल जीते

आज आए उपचुनावों के नतीजे में सभी सीटों पर बीजेपी को मुंह की खानी पड़ी है। राजस्थान में जहां कांग्रेस ने लोकसभा की दोनों सीटों पर अजेय बढ़त बना ली है तो वहीं पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस ने जीत दर्ज की। ज्ञात रहे कि राजस्थान और पश्चिम बंगाल की कुल 3 लोकसभा सीटों तथा 2 विधानसभा सीटों पर चुनाव हुए थे.

आज जहां एक ओर देश की निगाहें बजट पर टिकी रहीं तो वहीं उपचुनाव के नतीजों ने भी काफी लोगों का पारा उतरा और चढ़ाया। कांग्रेस ने राजस्थान की दो लोकसभा सीटों अजमेर और अलवर पर विजयी बढ़त बनाने के साथ ही, मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर भी बड़ी जीत दर्ज की। वहीं पश्चिम बंगाल की नुआपाड़ा विधानसभा सीट तृणमूल की झोली में गई और उलुबेरिया लोकसभा पर भी बड़े अंतर से आगे चल रही है।

राजस्थान उपचुनाव में अलवर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी करण सिंह यादव ने बीजेपी के जसवंत सिंह यादव पर विजयी बढ़त बना ली है। इसी तरह अजमेर लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी रघु शर्मा भी बीजेपी के राम स्वरूप लांबा का भी हारना प्रतीत हो रहा हैं। हालांकि मांडलगढ़ विधानसभा उपचुनाव में कांटे की टक्कर देखने को मिली, जिसमें कांग्रेस प्रत्याशी विवेक धाकड़ ने बीजेपी के शक्ति सिंह हाडा को 12976 वोटों से हराया।

दुसरी तरफ पश्चिम बंगाल की उलुबेरिया लोकसभा सीट उपचुनाव में तृणमूल प्रत्याशी सजदा अहमद ने 4 लाख 70 हजार वोटों से बंपर जीत हासिल की। वहीं नुआपाड़ा विधानसभा सीट उपचुनाव में भी तृणमूल प्रत्याशी सुनील सिंह 1,11,729 वोटों के साथ चुनाव जीत चुके हैं। उन्होंने सीपीएम की गार्गी चटर्जी, बीजेपी के संदीप बनर्जी और कांग्रेस के गौतम बोस को हराया है।

ज्ञात रहे कि राजस्थान में अजमेर लोकसभा सीट सांवरलाल जाट के निधन के बाद खाली हुई थी, वहीं अलवर लोकसभा सीट महंत चांदनाथ के निधन के बाद से रिक्त थी। इसी तरह मांडलगढ़ विधानसभा सीट कीर्ति कुमारी के निधन के बाद रिक्त हुई थी, पश्चिम बंगाल की उलुबेरिया लोकसभा सीट टीएमसी के सांसद सुल्तान अहमद के निधन के बाद खाली हुई थी और नुआपाड़ा विधानसभा सीट पर कांग्रेस विधायक मधुसूदन घोष के निधन के बाद उपचुनाव हुए हैं। सभी सीटों पर 29 जनवरी को उपचुनाव हुए थे।

Leave a Reply

RSS
Facebook
YOUTUBE
YOUTUBE